मीठे तरबूज की पहेचान ऐसे की जाती है (Mithe Tarbooz ki Pahechan)

तरबूज खाना बहुत सारे लोगों को पसंद होता है और होना भी चाहिए क्योंकि तरबूज होता ही इतना स्वादिष्ट है कि हर कोई इसे खाना पसंद करता है। तरबूज यह गर्मियों के मौसम में आने वाला फल है और गर्मियों में ही बाजार में बिकने भी आता है। तरबूज खरीदने मार्केट में तो हर कोई जाता है, लेकिन हर किसी को मीठे तरबूज़ की पहेचान न होने की वजह से फीका या ख़राब तरबूज घर ले आते हैं और फिर पछताना पड़ता है। हमने यहां इस आर्टिकल में कुछ टिप्स बताई है जो आपको लाल और मीठा तरबूज खरीदने में मदद करेंगी।

 

अक्सर जब हम बाजार में तरबूज खरीदने जाते हैं, तो तरबूज बेचने वाले तरबूज की ढिग पर दो या चार तरबूज काटकर लाल वाले तरबूज़ दिखाने के लिए रखते हैं और हम इन लाल रंग के दिखने वाले तरबूज को मीठा तरबूज समझकर खरीद लेते हैं, जो कि सही नहीं है। जब हम मार्केट से तरबूज खरीद कर घर ले आते हैं और जब घर पर तरबूज काटते हैं, तो वह तरबूज सफेद और फीका स्वाद वाला निकल जाता है, तब हमारा तरबूज खाने का मजा ही किरकिरा हो जाता है।




मध्यम साइज का तरबूज:- कुछ लोग समझते हैं कि साइज में बड़ा वाला तरबूज ही अच्छा और मीठा होता है और खरीद लेते हैं, जो कि ये बात सही नहीं है। अक्सर साइज़ में बड़े तरबूज की तुलना में छोटा साइज का तरबूज लाल और मीठा होता है। आप जब भी बाजार में तरबूज खरीदने जाए तो यह बात ध्यान से निकालदे की बड़े साइज का तरबूज ही खरीदना है।

 

वजन में भारी तरबूज :- तरबूज को अपने साइज के हिसाब से भारी होना चाहिए। जब भी आप तरबूज खरीदने बाजार जाए तो तरबूज की ढेरी में से तीन-चार तरबूज एक ही साइज के चुने और इन तरबूज की तुलना में जो सबसे ज्यादा भारी हो वो ही तरबूज खरीदें। वजन में भारी वाला तरबूज का रंग लाल, साथ में मीठा और अच्छा होता है।



पीले धब्बे की तलाश करें :- तरबूज खेतों में जमीन पर लगे होते हैं। इसलिए धूप एक तरफ से ना मिलने की वजह से तरबूज पर पीला धब्बा पड़ जाता है। इसलिए यह धब्बा जितना ज्यादा गहरा होगा तरबूज उतना ही मीठा होगा। इस जगह को ‘फील्ड स्पॉट’ भी कहा जाता है। 

 

कटे हुए तरबूज की पहचान ऐसे करें: अगर आप मार्केट से कटे हुए तरबूज को खरीदते हैं तो आपको इन बातों को ध्यान में रखना चाहिए। कटा हुआ तरबूज के टुकड़े गहरे लाल रंग के और भूरे या काले रंग के इसमें बीज होते हैं, ऐसे तरबूज मीठे होते हैं और जो कटा हुआ तरबूज हल्के लाल रंग का हो और इसमें सफेद रंग के बीज हो तो इन तरबूज को ना खरीदें। जो कटा हुआ तरबूज़ के गूदे में तड़क के निशान पड़ गए हो या गूदे से बीज अलग हो रहे हो, ऐसे तरबूज को ना खरीदें, क्योंकि यह तरबूज के पीके होने की निशानी है।




फीमेल (Female) तरबूज ही खरीदे : आप सोच में पड़ गए होंगे कि फलों में भी Male Female होते हैं। जी हां, Male तरबूज आकार में लंबा होता है और ‘फीमेल तरबूज़’ आकर में गोल होता है और खाने में मीठा होता है।

 

पूंछ से पता करें: तरबूज़ की पूंछ से यह पता लगाया जा सकता है कि तरबूज कच्चा है या पक्का हुआ है। जो तरबूज की पूंछ अगर हरी हो तो, इसका मतलब यह है कि तरबूज जल्दी पकने वाला है, और अगर सूखी पूछ वाला तरबूज हो तो इसका मतलब यह है कि तरबूज पका हुआ है और खाने में मीठा और खाने के लिए तैयार है। 

 

आवाज से पहचाने तरबूज मीठा है या फिका : अक्सर जब हम तरबूज खरीदने दुकान जाते हैं, तब कुछ लोग तरबूज को ठोककर पहचान कर रहे होते हैं। मीठे तरबूज की पहचान में जितनी भी ट्रिक बताई है यह उनमें से सबसे ज्यादा कारगर और असरदार ट्रिक है, जो सदियों से लोग इस ट्रिक से मीठे तरबूज की पहचान करते आए हैं। अपने उंगलियों के जोड़ों से तरबूज को ठोकने पर आवाज तेज आती है, तो समझिए तरबूज मीठा है और पका हुआ है और अगर आवाज हल्की और धीमी आती है तो समझिए तरबूज कच्चा है। यही है पका और मीठे तरबूज़ की असली पहचान, इन टिप्स को धयान में रखते हुए तरबूज़ ख़रीदे तो कभी नहीं पछताओगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आसान है पिज़्ज़ा बनाना अपनाए यह तरीका बेसन की बर्फी ऐसे बनाओ हर कोई पसंद करेगा चौपाटी जैसी नमकीन चना चाट घर पर बना सकते है नाश्ते में बनाए आलू पोहा ऐसी मटर पनीर की सब्जी की सब शौक से खाएंगे