गुलगुले बनाने का तरीका – Gulgule Recipe In Hindi

अगर आप तला हुआ या मीठा खाने के शौकीन है तो आपने गुलगुले जरूर खाए होंगे। गुलगुला रेसिपी यह भारत की मशहूर और जानी-मानी रेसिपी है और बिहार, उत्तर प्रदेश के अलावा महाराष्ट्र राज्य में भी खूब पसंद किया जाता है। इसे कुछ राज्यों में पुये के नाम से भी जाना जाता है और कुछ जगह पर Gulgule कहते हैं.

 

यह गुलगुले रेसिपी को खासतौर पर भारत में त्योहार के मौके पर बनाया जाता है। लेकिन आप इसे बरसात के मौसम में बनाकर खाए तो त्यौहार जैसा ही महसूस होगा। आज हम गुलगुले बनाने का तरीका – Gulgule recipe in Hindi में बता रहे हैं। आप ध्यान से इस रेसिपी को बनाने की विधि पढ़े। तभी आप इसे रसगुल्ले जैसे सॉफ्ट और मुलायम गुलगुले बना पाएंगे।




तो चलिए देर ना करते हुए गुलगुला बनाना शुरू करते हैं। आपने ध्यान से इसे बनाना पढ़ लिया तो आप कभी किसी से नहीं पूछेंगे कि गुलगुले कैसे बनाते हैं ? इसे बनाना बहुत आसान है।

 

आवश्यक सामग्री

 

गेहूं का आटा 2 कटोरी
सूजी आधा कटोरी
चीनी – 1 कटोरी
इलायची पाउडर 1 छोटी चम्मच
खाने का सोडा 1 चुटकी
तेल 500 ग्राम (तलने के लिए)

 

विधि (गुलगुले-Gulgule)

 

सबसे पहले एक कटोरी में गेहूं का आटा, सूजी, चीनी, इलायची पाउडर और एक चुटकी सोडा डालकर अच्छी तरह मिला लें। मिश्रण अच्छी तरह मिल चुका हो तब इसमें पानी डालकर अच्छी तरह चम्मच से मिला दे। इसका मिश्रण ज्यादा पतला या ज्यादा गाढ़ा नहीं होना चाहिए।

 

अब यह मिश्रण अच्छी तरह बन चुका हो तब इसे आधा घंटे के लिए मुरने छोड़ दे। अब अच्छी तरह आटा मुर चुका है और मिश्रण भी बढ़ चुका है। अब इसे तलने की तैयारी शुरू करते हैं। एक कढ़ाई में तेल डालकर गर्म करें। जब तेल गरम हो जाए तब गैस की आंच मीडियम करें और हाथों को पानी में डुबोकर आटे के मिश्रण से थोड़ा सा आटा हाथ में ले।



अब नींबू जितने बाल तेल में छोड़ते जाए, अब इसे मीडियम आंच पर हल्का लाल कलर आने तक तले। जब इसका कलर लाल हो जाए तब कलछी से बाहर निकाल कर प्लेट में रखे। ठीक इसी तरह सभी आटे के गुलगुले तैयार कर ले और प्लेट में निकाल कर थोड़ा ठंडा होने दें। गुलगुले (Gulgule) तैयार है सर्व करने के लिए। (आटे का हलवा बनाने की विधि)

 

सुझाव

 

इस रेसिपी में आप खसखस भी मिला सकते हैं। यदि आप खसखस से बनाना चाहते हैं तो हाथ में मिश्रण ले और खसखस में डुबोकर तेल में छोड़ दे।

इस रेसिपी में चीनी अपने स्वाद के अनुसार ही मिलाए, जितना मीठा आप खाना पसंद करते हैं।

गुलगुले का मिश्रण में ज्यादा पानी ना मिलाएं। ज्यादा पतला मिश्रण होगा तो गुलगुले कड़क और क्रिस्पी बनेंगे और ज्यादा सख्त मिश्रण भी ना हो। मिश्रण सख्त होने से इसका स्वाद बिगड़ जाता है और यह नर्म और स्पंजी नहीं बनते।

Leave a Reply

Your email address will not be published.